Connect with us

इलाहाबाद

कोविड-19 की समीक्षा बैठक में डीएम ने कहा कोरोना से मरने वालों का करें केस स्टडी और…

Published

on

खबर शेयर करें

प्रयागराज में लगातार कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिले में अब तक करीब 10 हजार कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। वहीं कोरोना के कारण करीब 150 लोगों की जान जा चुकी है। डीएम भानु चन्द्र गोस्वामी जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों को गम्भीरता से लेते रविवार को मेडिकल कालेज के सभागार में बैठक कर कोविड-19 की समीक्षा की।

इस दौरान जिलाधिकारी ने कोविड-19 से हुई मृत्यु से सम्बंधित व्यक्तियों की रिपोर्ट के बारे में जानकारी ली। साथ ही चिकित्सकों को मृत्यु व्यक्तियों की केस स्टडी के आधार पर तथा उनसे अनुभव लेते हुए अस्पताल में भर्ती गम्भीर प्रकृति के मरीजों के इलाज में विशेष सावधानी एवं सर्तकता बरतने के निर्देश दिए है। जिलाधिकारी ने कहा कि भर्ती मरीजों के बारे में कोई भी जानकारी यदि उनके परिजनों के द्वारा मांगी जाये, तो उनको उनसे सम्बंधित भर्ती मरीज के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध करा दी जाये।

जिलाधिकारी ने कहा कि भर्ती मरीजों के परिजनों की उनके मरीजों की अद्यतन स्वास्थ्य की सूचना दिए जाने हेतु अलग से कर्मचारी की तैनाती की जाये, जिससे कि परिजनों को किसी भी तरह से जानकारी के बारे में कोई परेशानी न होने पाये। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि ट्रायज एरिया में यदि सम्भव हो तो कोविड-19 के संदिग्ध गम्भीर मरीजों व सामान्य मरीजों के लिए अलग-अलग वार्ड की व्यवस्था कर ली जाये। उन्होंने कोविड मरीजों को भोजन का पैकेट उनके बेड पर ही उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड वार्डों में ड्यूटीरत स्टाफ नर्सो को एक निश्चित संख्या में बेड आवंटित कर दिए जाये, जिससे मरीजों का समुचित उपचार व उनकी जरूरतों को समय से पूर्ण किया जा सके।

यह भी कहा कि उक्त आवंटित बेड पर कोई भी समस्या उत्पन्न होती है, तो उसके लिए सम्बंधित नर्सों को जवाबदेह बनाया जाये। जिलाधिकारी ने कोविड आईसीयू वार्ड नम्बर 7 व 8 में अलग-अलग एक-एक लैंडलाइन व दो-दो मोबाइल फोन की व्यवस्था भी सुनिश्चित किये जाने के लिए कहा है। साथ ही साथ यह भी कहा है कि फोन काॅल रिसीव करने हेतु दो-दो कर्मचारियों की अलग से तैनाती की जाये।


बैठक के बाद जिलाधिकारी स्वरूपरानी अस्पताल पहुंचकर पीपीई किट पहनकर कोविड वार्डों एवं आईसीयू वार्डों में जाकर एक-एक मरीजों से बातचीत करते हुए उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। उन्होंने मरीजों के चादरों को निरंतर बदलते रहने तथा वार्डों की साफ-सफाई की व्यवस्था चुस्त-दूरूस्त रखने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि मरीजों को निर्धारित मानक के अनुसार समय से खाना एवं दवाईयां उपलब्ध होती रहे। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। इस अवसर पर प्राचार्य-डाॅ SP सिंह, WHO के सदस्य व अन्य स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित रहे।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending