Connect with us

इलाहाबाद

Prayagraj: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कोरोना के कारण माघ मेले में शामिल नहीं होने वालों की जमीन रहेगी सुरक्षित

Published

on

खबर शेयर करें

Prayagraj magh mela: प्रयागराज के संगम (city of sangam) तट पर अगले महीने माघ मेले (magh mela) का भव्य आयोजन होने जा रहा है। इस भव्य आयोजन में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी नहीं उठानी पड़े, इसके लिए उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (UP Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने आज (सोमवार) को सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

सोमवार को हुई इस समीक्षा बैठक में उन्होंने मेले में आने वाले श्रद्धालुओं से एक सप्ताह के अंदर कोविड- 19 (covid-19) की जांच रिपोर्ट साथ लाने को की अपील। साथ ही साथ उन्होंने मेला क्षेत्र में साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिये जाने के भी निर्देश दिए। इस दौरान उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद ने कहा कि जिन संस्थाओं को पूर्व में मेले में जमीन आवंटित की गयी है, अगर वह इस बार कोविड-19 के दृष्टिगत मेले में नहीं आते है, तो वे आश्वस्त रहे कि अगले वर्ष जब मेले का आयोजन होगा, तो उनको पूर्व की भांति जमीन का आवंटन किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि इस भ्रम में न रहे कि आपको आवंटित की जाने वाली जमीन आपसे वापस ले ली जायेगी। आपकी संस्थाओं का नाम सूची में पूर्व की भांति ही दर्ज रहेगा, जिस प्रकार पहले आप लोगों को मेला प्रशासन से जो सुविधायें मुहैया करायी जाती रही है, वे आगे भी मिलती रहेगी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि माघ मेला का आयोजन पूर्व में आयोजित मेले की भांति ही दिव्य, भव्य एवं स्वच्छ रूप में आयोजित हो एवं सफाई का विशेष ध्यान रखा जाये।

उन्होंने अरैल की तरफ से स्नान को आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए अरैल पर पीपा का पुल बनाये जाने के लिए कहा है। साथ ही फाफामऊ के पुल पर जाम न लगने पाये एवं श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो, इसके लिए भी फाफामऊ में पीपे का पुल बनाने के निर्देश दिये। इसके अलावा अधिकारियों को यह निर्देश भी दिया कि अरैल एवं फाफामऊ के पीपे के पुलों का निर्माण कार्य समय से पूरा किया जाये।

उप मुख्यमंत्री ने मेले की सभी तैयारियों को 5 जनवरी 2021 तक पूर्ण करने के निर्देश दिये। साथ ही माघ मेले के दौरान पर्याप्त मात्रा में गंगा जल का प्रवाह बना रहे, इसके लिए पहले से ही तैयार रहने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि माघ मेला का आयोजन प्रयागराज की गरिमा को बढ़ाने वाला होना चाहिए। मेले की तैयारियों में कोई कोर-कसर न रहने पाये। इसके लिए अधिकारियों को विशेष ध्यान देने के लिए कहा है।

मेले में आने वाले साधु-संतो एवं कल्पवासियों को मिलने वाली सभी सुविधाएं उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि मेले में कोविड-19 के मानकों का कड़ाई से अनुपालन कराये जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होंने मेले आने वाले श्रद्धालुओं से अपील भी की कि मेले में आने वाले श्रद्धालुगण अपने साथ एक सप्ताह के अंदर की कोविड जांच रिपोर्ट भी साथ लेकर आयें।

अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि साधु-संतो/संस्थाओं को मेले में आवंटित की जाने वाली जगह का आवंटन इस प्रकार से किया जाये कि किसी भी साधु-संत/संस्थाओं के अंदर असंतोष न रहे। इस अवसर पर सांसद फूलपुर केशरी देवी पटेल, विधायक शहर उत्तरी हर्षवर्धन वाजपेयी, विधायक फाफामऊ विक्रमाजीत मौर्या, बीजेपी महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी, जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी, एडीएम सिटी अशोक कुमार कनौजिया, प्रभारी मेलाधिकारी-विवेक चतुर्वेदी सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending