Connect with us

कोरोना वायरस

भ्रष्टाचार: क्वारंटीन सेंटर के लिए 20 रुपये किलो का टमाटर 850 में खरीदा, समान खरीदी की रसीद देख उड़े होश

Published

on

खबर शेयर करें

क्वारन्टीन सेंटर में मरीजों देखरेख के नाम पर जमकर लूट मची है। मरीजों के खाने के नाम पर लूट का एक मामला छत्तीसगढ़ में देखने को मिला है। वहां के एक क्वारंटीन सेंटर में 580 रुपये प्रति किलो की दर से टमाटर  खरीदने का मामला सामने आया है। कांकेर जिले के इमलीपारा क्वारंटीन सेंटर में टमाटर की ये महंगी खरीदारी की गई है। स्थानीय जनप्रतिनिधि इसे भ्रष्टाचार का खुला खेल बता रहे हैं तो वहीं अफसर इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं।

लॉकडाउन के दौरान इमलीपारा के क्वारंटीन सेंटर में अन्य राज्य से आने वाले मजदूर और छात्र-छात्राओं को ठहराया गया था। इन लोगों की खाने की व्यवस्था में जमकर भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाया जा रहा है। सूचना का अधिकार के तहत मिले दस्तावेजों से इस मामले का खुलासा हुआ है।

दी गई जानकारी के मुताबिक इमलीपारा क्वारंटीन सेंटर में सब्जी बनाने के लिए टमाटर प्रति किलो 580 रुपये की दर से खरीदने का बिल लगाया गया है, जबकि उस वक्त टमाटर की अधिकम कीमत 20 रुपये प्रति किलो बताई जा रही है। साथ ही अन्य सब्जियों का कीमत भी बाजार मूल्य से अधिक बिल में लिखा गया है।

इमलीपारा क्वारंटीन सेंटर में खाद्य सामग्री की आपूर्ति के लिए आदिम जाति कल्याण विभाग को जिला प्रशासन ने जिम्मेदारी सौंपी थी। विभाग के जिम्मेदारों ने बाजार मूल्य से कई गुना अधिक कीमत पर खरीदारी करने का बिल लगाया है। इसका भुगतान भी विभाग ने कर दिया है। इतना ही नहीं क्वारंटीन सेंटर के लिए खरीदी गई सामग्रियों के बिल में जीएसटी और टिन नंबर तक नहीं दिया गया है। दस्तावेजों के मुताबिक इस सेंटर में लॉकडाउन के दौरान व्यवस्था बनाने के लिए एक करोड़ 67 लाख रुपये खर्च किए गए हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending