Connect with us

उत्तरप्रदेश

UP के बलरामपुर में दबंगों ने घर में घुस कर पत्रकार को जिंदा जलाया

Published

on

खबर शेयर करें

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में दबंगों ने घर में घुस कर सो रहे पत्रकार और उसके साथी को जिंदा जला दिया। योगी सरकार में दबंगों की कायराना करतूत के चलते पत्रकार और उनके साथी की मौत हो गई।हालांकि पत्रकार ने अपनी मौत से पहले पुलिस को जो बयान दिया है, वह महत्वपूर्ण साक्ष्य के तौर पर देखा जा रहा है।

अब मृत्यु पूर्व पत्रकार के बयान पर पुलिस कितनी गंभीरता से जांच करेगी, यह गंभीर सवाल है। पुलिस संबंधित मामले में तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही अपराधमुक्त प्रदेश का दावा करे लेकिन बलरामपुर की दिल दहला देने वाली वारदात ने योगी सरकार के लचर कानून व्यवस्था की कलई खोल कर रख दी है।

यूपी में आए दिन देश के चौथे स्तभ को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। यहां एक के बाद एक कई निर्भिक पत्रकारों की हत्याएं हो रही है। आपको बता दें कि बलरामपुर देहार क्षेत्र के कलवारी निवासी राकेश सिंह निर्भिक अपने दोस्त पिंटू साहू के साथ घर में सो रहे थे। शुक्रवार देर रात करीब 11 बजे 10-15 दबंगों ने राकेश सिंह को जिंदा जला दिया।

उन्हें बचाने का प्रयास करने वाले पिंटू साहू की आग से झूलसने के कारण मौके पर ही मौत हो गई। कमरे में धमाके से एक दीवार ढह गई थी। इसी दीवार के माध्यम से राकेश सिंह किसी तरह घर से बाहर निकले। उनके शरीर का 90 फीसदी हिस्सा जल चुका था।

राकेश को इलाज के लिए लखनऊ केजीएमयू ले जाया गया। शनिवार को इलाज के दौरान उनकी अस्पताल में ही मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार राकेश ने अपनी मौत से पहले बयान दिया था, जिसमें उन्होंने 10-15 लोगों पर आग लगाने का अरोप लगाया है।

पुलिस ने संबंधित मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। बलरामपुर में पत्रकार राकेश को जिंदा जलाने के मामले ने एक बार फिर योगी सरकार के ढुलमुल कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है। 

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending