Connect with us

क्राइम

Kanpur Encounter/एनकाउंटर के डर से पत्नी और बेटी साथ थाने पहुंचा 50 हजार का इनामी, कहा “मैं बिकरु गोली कांड का आरोपी उमाकांत… मुझे गिरफ्तार कर लो”

Published

on

खबर शेयर करें

कानपुर मुठभेड में दहशतगर्त विकास दुबे का साथ पुलिस फोर्स पर उमाकांत शुक्ल उर्फ गुड्डन ने भी पुलिस पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थी। इस हत्याकांड में पुलिस के 8 जवान शहीद हुए थे। घटना के बाद पुलिस ने विकास दुबे सहित उसके कई साथियों का एनकाउंटर शुरू किया।

साथ ही घटना में शामिल उमाकांत सहित अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही थी। पुलिस की ओर से उमाकांत पर 50 हजार का इनाम रखा गया था। विकास दुबे गैंग के खिलाफ लगातार पुलिस की ओर से दबिश और कार्रवाई की जा रही है। विकास दुबे गैंग के खिलाफ पुलिस द्वारा की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से उमकांत काफी डरा था।

उसे डर था कि कहीं उसका भी एनकाउंटर ना हो जाए। ऐसे में आरोपी उमाकांत उर्फ गुड्डन ने एनकांउटर के डर से शनिवार को बड़े नाटकीय ढंग से चौबेपुर थाने में आत्मसमर्पण कर दिया। शनिवार को वह अपनी पत्नी और बेटी के साथ गले में तख्ती लटका कर चौबेपुर थाने पहुंचा। थाने में पहुंचते ही उसने साष्टांग प्रणाम किया। उसके बाद उसने थाने में बोला “मैं बिकरु हत्याकांड का आरोपी उमाकांत, मुझे गिरफ्तार कर लो। मैं दबिश से डरा हुआ हूं।

मैं घटना में शामिल था। मुझे आत्मग्लानि है। खुद हाजिर हो रहा हूं। मेरी जान की रक्षा की जाए, मुझ पर रहम करें। डर था कि कहीं मेरा भी एनकाउंटर ना हो जाए।” यह सब उसके गले में लटक रही तख्ती में भी लिखा हुआ था। उमाकांत के आत्म समर्पण के बाद पुलिस ने उसकी पत्नी और बेटी को घर भेज दिया। अब उमाकांत को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उमाकांत का नाटकीय ढंग से आत्मसमर्पण चर्चा का विषय बना हुआ है।

Advertisement
Advertisement

Trending