Connect with us

क्राइम

शादी के बाद भी प्रेमी ने जब बहन का पीछा नहीं छोड़ा तो भाई ने सोते समय रेत दिया गला, मोबाइल से मिला सुराग

Published

on

खबर शेयर करें

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश

बहन की शादी के बाद भी जब उसके प्रेमी ने पीछा नहीं छोड़ा तो चचेरे भाई ने रात में प्रेमी का गला रेत कर हत्या कर दी। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपी के पास से घटना को अंजाम देने वाले साक्ष्य भी बरामद हुए हैं।

माण्डा थाना अन्तगर्त 21 और 22 अक्टूबर के मध्यरात्रि ख्वास तारा चौराहे के पास विजयराज नामक युवक की सोते समय निर्मम हत्या कर दी गई थी। इस सम्बन्ध में वादी रामदेव बिन्द की तहरीर पर थाना माण्डा में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।

इस सनसनीखेज घटना के तत्काल अनावरण व अभियुक्तों की गिरफ्तारी के सम्बन्ध में पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी के निर्देशन में जांच टीम का गठन किया गया।

24 अक्टूबर को पुलिस को मुखबिर और सर्विलान्स के माध्यम से सूचना मिली कि घटना को अंजाम देने वाले थाना माण्डा क्षेत्र के टिकरी तिराहे के पास मोटर साइकिल के साथ मौजूद हैं। ये कहीं भागने की तैयारी में हैं। मामले की जानकारी होते ही दोपहर करीब डेढ़ बजे टिकरी तिराहे से बॉए घराव नारा नहर के पास से दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया।

पकडे गये अभियुक्तों ने उक्त हत्या की घटना को स्वीकार कर लिया है। पकड़े गए अभियुक्तों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त एक अदद चापड व मृतक का मोबाइल फोन बरामद किया गया। पकडे गये अभियुक्तों में से अभियुक्त चन्द्रेश्वर पटेल उर्फ प्रियान्शु ने बताया कि 21 अक्टूबर को मैने फोन करके अपने मित्र धनंजय पटेल को बुलाया।

उसके साथ रात करीब 10 बजे माण्डा क्षेत्र में खवास तारा चौराहे से कुछ दूर पहले रूक कर लोगों के सोने का इन्तजार करने लगे। नवरात्र के जागरण के कारण लोगों का आना-जाना देर रात तक बना हुआ था। इसलिए लगभग 1-2 घण्टे तक इन्तजार करने के बाद जब सन्नाटा हो गया।

इसके बाद हम दोनो विजयराज के मोटरसाइकिल रिपेयरिंग की दुकान में पहुंचे, जहां वह सो रहा था। सोते समय विजय राज बिन्द के सीने पर मेरा मित्र धनंजय चढ़ गया। इसके बाद मैने अपने हाथ में लिये चापड़ से गला रेत कर हत्या कर दी।

हत्या के बाद उसका मोबाइल लेकर भाग आए। मोबाइल को अपने घर के पीछे बैंगन के खेत में छिपा दिया था। अभियुक्त चन्द्रेश्वर पटेल ने हत्या करने का कारण बताते हुए कहा कि  मेरी चचेरी बहन का विजयराज से प्रेम प्रसंग चलता था।

मुझे पहले से इसकी जानकारी थी। बहन की शादी होने के बाद भी विजयराज उससे मिलता था। इसके बाद मैने विजयराज की हत्या का मन बना लिया। 

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending