Connect with us

उत्तरप्रदेश

किसान आंदोलनः जोन में 700 से ज्यादा कांग्रेस सहित अन्य पार्टी नेता गिरफ्तार, विरोध करने रेलवे ट्रैक पर उतरे सपाई और…

Published

on

खबर शेयर करें

प्रयागराज। कृषि कानून के खिलाफ किसानों द्वारा घोषित भारत बंद को लेकर उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलोें में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुआ। कांग्रेस, सपा सहित अन्य राजनैतिक पार्टी के सैकड़ो पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को सड़क पर उतरते ही गिरफ्तार कर लिया गया। किसानों के समर्थन में उतरे प्रयागराज जिले में सौ से ज्यादा और जोन में 700 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया। 

किसानों के समर्थन में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता सुबह ही प्रयागराज स्टेशन स्थित रेलवे ट्रैक पर उतर गए। प्लेटफार्म पर खड़ी एक यात्री ट्रेन के इंजन और रेलवेे ट्रैक पर खड़े होकर केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हालांकि उन्हें समय रहते आरपीएफ और जीआरपी के जवानों ने रेलवे ट्रैक से हटाया और ट्रेन को निर्धारित समय पर रवाना करवाया।

वही किसानों के भारत बंद के आह्वान को सफल बनाने उतरे समाजवादी पार्टी के करछना विधायक उज्जवल रमन सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उनके साथ दर्जनों सपा के कार्यकर्ता भी गिरफ्तार कर कर लिए गए।

इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में भी जगह जगह किसानों के समर्थन में उतरे विभिन्न दलों के नेताओं को गिरफ्तार कर लिया। वहीं प्रयागराज के सिविल लाइन स्थित सुभाष चैराहे पर भी सपा के फूलपुर पूर्व सांसद सहित दर्जनों कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

इसके पहले कांग्रेसी नेता हसीब अहमद ने भी किसानों के समर्थन पर सुभाष चौराहे पर प्रदर्शन करने का प्रयास किया लेकिन वहां मौजूद पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया। इसके अलावा किसानों के समर्थन में उतरे आम आदमी पार्टी सहित अन्य दलों के नेताओं को भी हिरासत में ले लिया गया।  

भारत बंद के आह्वान के मद्देनजर कानून और शान्ति व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए लगातार अधिकारियों द्वारा जगह जगह की जानकारी ली जा रही थी। वकील भी किसानों के समर्थन में सड़क पर उतरे लेकिन उनसे पुलिस उलझने से बचती रहे। वकीलों को गिरफ्तार करने के बजाय पुलिस उन्हें किसी तरह वहां से हटाने में सफल रही।

एडीजी जोन प्रयागराज, आईजी रेंज प्रयागराज व जिलाधिकारी, डीआईजी/एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी सहित अन्य अधिकारी शहर के प्रमुख स्थानों पर लगातार नजर बनाए हुए थे। शहर के मुख्य स्थानों का लगता निरीक्षण कर जिम्मेदार अधिकारी व कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे थे।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending