Connect with us

इलाहाबाद

Kanpur encounter: गिरफ्तारी के बाद विकास दुबे का बड़ा खुलासा, कानपुर में कई थाने की पुलिस कर रही थी मदद, शव जला कर सबूत मिटाने की थी योजना, एनकाउंटर का था डर, मां ने जान बख्शने की लगाई गुहार

Published

on

खबर शेयर करें

कानपुर मुठभेड़ का मुख्य आरोपी विकास दुबे आज गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में गिरफ्तार कर लिया गया। विकास दुबे और उसके साथियों ने मिलकर कानपुर में डीएसपी देवेंद्र मिश्र और शिवराजपुर एसओ महेश यादव सहित आठ पुलिसवालों की हत्या कर शव जलाने का प्रयास किया था। हालांकि सफल नहीं हुआ। गिरफ्तारी के डर से वह फरार हो गया था।उस पर पांच लाख का इनाम था।

गिरफ्तारी के बाद विकास दुबे ने बड़ा चौकाने वाला खुलासा किया है। विकास दुबे ने पुलिस के सामने कबूल किया है कि वह जिस गाड़ी से मध्यप्रदेश पहुंचा उस पर हाईकोर्ट लिखा था। इसलिए उसे वहां पहुंचने में कोई दिक्कत नहीं हुई। गाड़ी मनोज यादव के नाम पंजीकृत है। उसने कहा एनकाउंटर के डर से उसने पुलिस पर गोलियां चलाई थी। चौबेपुर के अलावा कई थानों की पुलिस उसकी मदद कर रही थी।

उसे दबिश की जानकारी भी पुलिस से ही मिली थी। सूचना मिलते ही उसने खूनी खेल खेलने की पूरी तैयारी कर ली थी। उसने कबूल किया कि वह पुलिसकर्मियों को मारने के बाद जला कर सबूत मिटाना चाहता था लेकिन उसे मौका नहीं मिला। इस खुलासे के साथ ही चौबेपुर एसओ विनय तिवारी और हलका इंचार्ज दरोगा केके शर्मा की गद्दारी सबके सामने खुल कर आ गयी है। विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद उसकी मां ने सरकार से उसकी जान बख़्सने की मांग की है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending