Connect with us

टेक्नोलॉजी

BJP के साथ नरमी के आरोप पर Facebook ने दी सफाई कहा: हम पार्टी की राजनैतिक हैसियत नहीं देखते

Published

on

खबर शेयर करें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दिनों Facebook को BJP और RSS का हिमायती बताया था. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक ने भारत में सत्ताधारी दल के नेताओं पर नरमी दिखाने के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए सोमवार को सफाई दी है. फेसबुक (Facebook) के प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि पूरे विश्व में हमारी नीतियां एक जैसी हैं. हम पार्टियों की राजनीतिक हैसियत नहीं देखते. हम किसी की भी राजनीतिक हैसियत/पार्टी की संबद्धता के बिना नफरत फैलाने वाले भाषण (Hate Speech) और कंटेंट को बैन करते हैं. इसके लिए नियमित ऑडिट किए जाते हैं. बता दें कि देश में फेसबुक और वॉट्सऐप के ‘कंट्रोल’ मामले को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने हैं. कांग्रेस ने मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देकर इस मामले की जांच संयुक्त संसदीय कमेटी (जेपीसी) कराने की मांग की है.

फेसबुक प्रवक्ता ने कहा, ‘हम हिंसा को उकसाने वाली हेट स्पीच और कंटेंट को प्रतिबंधित करते हैं. हम यह देखे बिना इन नीतियों को दुनियाभर में लागू करते हैं कि किसी की क्या राजनीतिक हैसियत है या वो किस दल से जुड़ा है. हम निष्पक्षता और सटीकता सुनिश्चित करने के लिए नियमों को और धारदार बना रहे हैं.’

वॉल स्ट्रीट जनरल की इस रिपोर्ट को लेकर हुआ विवाद
दरअसल, अमेरिका के अखबार द वॉल स्ट्रीट जर्नल (The Wall Street Journal) ने फेसबुक की निष्पक्षता पर सवाल उठाए हैं. WSJ ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि फेसबुक ने बीजेपी नेताओं और कुछ समूहों के ‘हेट स्पीच’वाली पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई करने में जान-बूझकर कोताही बरती. एक रणनीति के तहत इन पोस्ट को जल्द नहीं हटाया गया

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending