Connect with us

देश

पीएम मोदी ने अयोध्या में कहा “इमारतें नष्ट कर दी गईं, अस्तित्व मिटाने का प्रयास हुआ, बरसों से टाट और टेंट के नीचे रहे रामलला, अब बनेगा भव्य मंदिर”

Published

on

खबर शेयर करें

अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राम मंदिर निर्माण के लिए पूरे विधि विधान के साथ भूमि पूजन किया। भूमि पूजन के इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा ये ये मोहोत्सव है विश्वास को विद्यमान से जोड़ने का, नर को नारायण से, लोक को आस्था से वर्तमान को अतीत से जोड़ने का।

खुद को संस्कार से जोड़ने का। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इमारतें नष्ट कर दी गईं, अस्तित्व मिटाने का प्रयास भी बहुत हुआ, लेकिन राम आज भी हमारे मन में बसे हैं। हमारी संस्कृति का आधार हैं। श्रीराम भारत की मर्यादा हैं, श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं। राम मंदिर के लिए चले आंदोलन में अर्पण भी था ,तर्पण भी था, संघर्ष भी था, संकल्प भी था।

साथ ही कहा त्याग, बलिदान और संघर्ष से आज ये स्वप्न साकार हो रहा है। जिनकी तपस्या राममंदिर में नींव की तरह जुड़ी हुई है। मैं उन सबको आज 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से नमन करता हूं। पीएम मोदी ने कहा बरसों से टाट और टेंट के नीचे रह रहे हमारे रामलला के लिए अब एक भव्य मंदिर का निर्माण होगा। टूटना और फिर उठ खड़ा होना, सदियों से चल रहे इस व्यतिक्रम से रामजन्मभूमि आज मुक्त हो गई है।

पूरा देश रोमांचित है, हर मन दीपमय है। सदियों का इंतजार आज समाप्त हो रहा है। हमारे स्वतंत्रता आंदोलन के समय कई-कई पीढ़ियों ने अपना सब कुछ समर्पित कर दिया था। गुलामी के कालखंड में कोई ऐसा समय नहीं था जब आजादी के लिए आंदोलन न चला हो, देश का कोई भूभाग ऐसा नहीं था जहां आजादी के लिए बलिदान न दिया गया हो।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भूमि पूजन के बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी भूमि पूजन की मिट्टी को मस्तक पर धारण किया। साथ ही राम मंदिर निर्माण के लिए संघर्षरत रहे विश्व हिंदू परिषद संरक्षक अशोक सिंघल सहित समस्त राम भक्तों की ओर भगवान रामलला को प्रणाम कर आशीर्वाद मांगा।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending