Connect with us

इलाहाबाद

Railway News: रेलवे ने यात्रियों को कोरोना से बचाने के लिए बनाया “पोस्ट कोविड कोच”, बिना हाथ लगाए होंगे कई काम, देखिए और पढ़िए इसकी खासियत

Published

on

खबर शेयर करें

कोरोना के कारण पिछले काफी समय से ज्यादातर लोग ट्रेन में सफर का खतरा नहीं उठाना चाह हैं। कोरोना के खतरे को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने खास तरह का कोच डिजाइन किया है।

कोच कई सुविधाओं से लैस होगा। चलती ट्रेन में यात्री बिना हाथ लगाए काफी कुछ कर सकेंगे। इससे रेल यात्रियों को कोरोना का खतरा काफी कम होगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Railway Minister Piyush Goyal) ने खास डिजाइन किए गए कोच के बारे में ट्वीट (Tweet) करते हुए लिखा है कि भविश्य के लिए तैयार रेलवे, कोरोना वायरस (Covid 19) से लड़ने के लिए रेलवे ने पहला पोस्ट कोविड कोच (Post Covid Coach) तैयार किया है।

उन्होंने पोस्ट कोविड कोच की खासियत बताते हुए लिखा कि इसमें काॅपर कोटेड हैंड्रिल्स और लैचेस, हैंडफ्री सविधाएं, टाइटेनियम डी-आॅक्साइड कोटिंग, प्लाज्मा एयर प्यूरीफिकेशन जैसी सुविधाएं होंगी।


चलती ट्रेन में हाथ लगाने की जरूरत कम

कोरोना काल को ध्यान में रख कर खास डिजाइन के कोच तैयार किए गए हैं। इसमें खास बात ये है कि चलती ट्रेन में पानी के नल और सोप डिस्पेंसर को हाथ के बजाय पैर से चलाने की सुविधा है। साथ ही वाॅशबेसिन, फ्लश वाल्व पर भी लगा नल पैर से आॅपरेट होगा।

काॅपर पर कोरोना वायरस ज्यादा समय तक जिंदा नहीं रहता। काॅपर में एंटी माइक्रोबियल की खूबी उसके डीएनए और आरएनए को खत्म कर देती है। इसी को ध्यान में रखते हुए कोच में काॅपर कोटेड हैंडरेल और चिटकनियां लगाई गई हैं। कोच में यात्रियों के संपर्क में आने वाली ज्यादातर चीजें काॅपर कोटेड ही हैं।

साथ ही स्वच्छ और साफ हवा के साथ साथ बैक्टीरिया, वारयर, फंगल को खत्म करने के लिए प्लाज्मा एयर प्यूरीफिकेशन, टाइटेनियम डी-आॅक्साइड कोटिंग का इस्तेमान किया गया है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending