Connect with us

देश

Uttarakhand Glacier Burst Updates: वीडियो: ग्लेशियर तबाही में सुरंग से 16 लोगों को बचाया गया, 10 शव बरामद, सीएम ने मृतकों के परिजनों को 4 लाख और पीएम फंड से 2 लाख आर्थिक मदद का ऐलान

Published

on

खबर शेयर करें

देवभूमि उत्तराखंड एक बार फिर से भयंकर तबाही का मंजर देखने को मिला है। उत्तराखंड के चमोली में रविवार को अचानक ग्लेशियर टूटने से प्रदेश के कई जिले विकराल बाढ़ की चपेट में आ गए। अचानक आई इस तबाही में अब तक 150 से ज्यादा लोगों के लापता होने की खबर है।

अब तक 10 लोगों के शव बरामद हुए हैं। इस प्रकृतिक आपदा से मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। राहत और बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है। वहीं उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत ने हादसे में मरने वालों के परिजनों को 4-4 लाख आर्थिक मदद का ऐलान किया है।

साथ ही उन्होंने लोगों को इस संकट की घड़ी में अफवाहों से बचने की अपील की है। उत्तराखंड के चमोली में आई इस भयानक आपदा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जाहिर करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में सरकार हर संभव मदद करेगी।
प्रधानमंत्री ने इस आपदा में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 2 लाख रुपए की आरथिक सहायता देने का ऐलान किया है। जबकि गंभीर रूप से घायलों को 50 हजार रुपए की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है।

आपको बता दें कि उत्तराखंड के चमोली जिले की ऋषिगंगा घाटी में रविवार को अचानक ग्लेशियर टूटने से विकराल बाढ़ आ गई। ग्लेशियर के टूटने से अलकनंदा और इसकी सहायक नदियों के जलस्तर ने विकराल रूप धारण कर लिया। धौली गंगा नदी में बाढ़ आने से हरिद्वार तक खतरा बढ़ गया।

राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल डीआईजी रिद्धिम अग्रवाल के अनुसार ऋषि गंगा बिजली परियोजना में काम करने वाले 150 से अधिक मजदूर सीधे प्रभावित हो सकते हैं। बिजली परियोजना के प्रतिनिधियों के अनुसार वे परियोजना स्थल पर अपने लगभग 150 श्रमिकों से संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। आईटीबीपी ने तपोवन के पास सुरंग में फंसे सभी 16 लोगों को बचाया है। तपोवन क्षेत्र में नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एनटीपीसी) साइट से कम से कम नौ शव बरामद किए गए हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending