Connect with us

राजनीति

Facebook, WhatsApp करता है RSS और BJP का सपोर्ट? राहुल के आरोप पर PM मोदी के मंत्री ने राहुल को कहा लूजर और…

Published

on

खबर शेयर करें


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने विदेशी अखबार में प्रकाशित लेख का हवाला देते हुए Facebook और WhatsApp को RSS और BJP का सहयोगी बताया है।

राहुल गांधी का आरोप है कि Facebook और WhatsApp बीजेपी और आरएसएस को सपोर्ट करती हैं। राहुल गांधी के इस आरोप से देश के सियासी गलियारी में सोशल मीडिया को लेकर सतर्क कर दिया है।

साथ लोगों के मन में भी Facebook और WhatsApp की पारदर्शिता को लेकर सवाल उठने लगे हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा “भारत में Facebook और WhatsApp पर BJP और RSS का कब्जा है।

इसके जरिये ये लोग फेक न्यूज और नफरत फैलाते हैं। साथ ही चुनाव प्रभावित करने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं। आखिरकार, अमेरिकी मीडिया में Facebook के बारे में सच बाहर आ गया।”

राहुल गांधी के इस आरोप पर बीजेपी नेता ने पलटवार करते हुए उन्हें लूजर कहा है। बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने राहुल पर पलटवार करते हुए Tweet किया कि “अपनी ही पार्टी के लोगों को प्रभावित करने में असफल रहने वाले लोग यह कह रहे हैं कि पूरी दुनिया BJP और RSS द्वारा नियंत्रित है।

चुनाव से पहले डेटा को हथियार बनाने के लिए आपको कैंब्रिज एनालिटिका और फेसबुक के साथ गठजोड़ करते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया था और अब हमसे सवाल कर रहे हैं।”

नेता रविशंकर प्रसाद के बयान के बाद एकबार फिर कांग्रेस पार्टी के खलबली मच गई है।


जानिए क्या है लेख में

विदेशी अखबार के जिस लेख ने सियासी गलियारों की हलचल तेज कर दी है। दरअसल वह लेख अमेरिकी अखबार वाॅल स्ट्रीट जर्नल में छपा है। लेख में लिखा गया है कि भारत में फेसबुक बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं के विवादित और हेट स्पीच वाले पोस्ट को लेकर कोताही बरतता है।

साथ ही लिखा है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं को दंडित करने पर फेसबुक के भारत में व्यापार पर असर पड़ेगा। इसलिए फेसबुक ऐसा करने से बचता है। राहुल गांधी अमेरिकी अखबार के इसी पोस्ट को लेकर बीजेपी पर हमलावर दिख रहे हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending