Connect with us

राजनीति

दो से अधिक बच्चे हैं तो चुनाव लड़ने पर लग सकती है रोक, शैक्षिक योग्यता भी विचार, इस महीने चुनाव की संभावना

Published

on

खबर शेयर करें

अगर आपके दो से अधिक बच्चे हैं और आप पंचायत चुनाव लड़ने के लिए कमर कस चुके हैं तो आपके लिए ये बुरी खबर हो सकती है। वहीं जिनके दो बच्चे हैं और पंचायत चुनाव में ताल ठोकने की तैयारी कर रहे हैं तो उनके लिए बहुत ही राहत की खबर हो सकती है।

दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार जनसंख्या नियंत्रण को प्रोत्साहित करने के लिए दो से अधिक बच्चों वाले सदस्य के पंचायत चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी में है। यह मांग केंद्रीय राज्यमंत्री संजीव बालियान सहित कई नेताओं ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है।

बालियान के अनुसार प्रदेश में 25 से 30 लाख लोग त्रिस्तरीय चुनाव लड़ते हैं। इस नियम के लागू होने से ऐसे लोग खुद अयोग्य घोषित हो जायेंगे। इससे जनसंख्या नियंत्रण को प्रोत्साहन भी मिलेगा। प्रदेश के पंचायतीराज मंत्री भूपेश सिंह चौधरी भी मुख्यमंत्री से मिलकर सुझाव दे चुके हैं।

साथ ही चुनाव लड़ने वाली की न्यूतम शैक्षिक योग्यता भी निर्धारित करने का सुझाव दिया गया है। अब इसका अंतिम फैंसला सीएम योगी आदित्यनाथ को करना है। वहीं कई लोग जनसंख्या नियंत्रण कानून को भाजपा के वैचारिक और सियासी एजेंडे के तौर पर देख रहे हैं।

यही कारण है कि स्वास्थ्य विभाग टू चाइल्ड पॉलिसी बनाने की कवायद कर रहा है। आपको बता दें कि कुछ राज्यों में दो से अधिक बच्चों वाले माता पिता के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव पर रोक सम्बंधित कानून है। हालांकि इसके लिए प्रदेश सरकार को पंचायतीराज एक्ट में बदलाव करना होगा। साथ ही कानूनी राय लेने के बाद ही इस दिशा में सरकार बड़ा फैसला ले सकती है।

अगले साल चुनाव होना सम्भव

उत्तर प्रदेश में अक्टूबर से दिसम्बर के बीच पंचायती चुनाव होने की संभावना थी। वहीं यूपी में लगातार कोरोना के बढ़ते मामले के कारण इस साल चुनाव टलना तय माना जा रहा है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि यह चुनाव अगले साल फरवरी से मई के बीच कराए जा सकते हैं।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending