Connect with us

रेलवे

रेलवे निजीकरण को कर्मचारियों ने बताया काला कानून, कहा विरोध नहीं हुआ तो भविष्य में भुगतेंगे गंभीर परिणाम

Published

on

खबर शेयर करें


केंद्र सरकार ने देश की कई सरकारी संस्थाओं को निजी कंपनियों के हाथों सौंप दिया है। अब रेलवे को भी निजी कंपनियों को सौंपने की तैयारी पूरी हो चुकी है। 100 से ज्यादा ट्रेनों के साथ साथ कई रेलवे स्टेशनों को भी प्राइवेट कंपनियों को सौंपने की तैयारी अंतिम चरण में है।

रेलवे के निजीकरण से रेलकर्मचारियों को बड़ा झटका लगा है। केंद्र सरकार की इस निजीकरण नीति के खिलाफ रविवार को देश के विभिन्न जोनों में रेलकर्मचारियों का मोर्चा खोला। रेलवे कर्मचारी “रेल बचाओ देश बचाओ” के तहत पूरे देश में एक मंच पर आ कर आंदोलन नजर आए। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन में भी इसका जबरदस्त विरोध हुआ।

बिलासपुर में संयुक्त कर्मचारी मोर्चा की ओर से आयोजित ट्रेड यूनियन काउंसिल के सभी पदाधिकारी कर्मचारी “रेल बचाओ देश बचाओ” के आंदोलन में एक साथ नजर आए।  कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे एसईसीआर मजदूर कांग्रेस महामंत्री केएस मूर्ति ने कहा कि आज नहीं तो कल ट्रेनें पटरी पर दौड़नी शुरू हो जायेगीं।

सरकार के इस काले कानून का तब तक विरोध किया जाएगा, जबकि केंद्र सरकार इसे वापस नहीं लेती। साथ ही कहा कि अगर हम इस समय सरकार के इस काले कानून का विरोध नहीं करेंगे तो भविष्य में इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

रेल कर्मचारियों के इस कार्यक्रम में शहर कांग्रेस के पदाधिकारी भी समर्थन करने पहुंचे। निजीकरण के खिलाफ कार्यक्रम में शामिल हुए शहर के महापौर राम शरण यादव ने भी रेलवे कर्मचारियों का समर्थन किया।

इसके साथ ही बिलासपुर को बी ग्रेड शहर का दर्जा दिलाने के लिए सामान्य सभा में बात रखने को भी कहा। एसईसीआर रेलवे मजदूर कांग्रेस के जोनल प्रवक्ता गोपी राव ने बताया कि इंजीनियरिंग एसोसिएशन के महामंत्री पीएन राय ने भी निजीकरण के खिलाफ केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला।

कार्यक्रम में एसईसीआर कांग्रेस संयुक्त महामंत्री विजय अग्निहोत्री, संयुक्त महामंत्री एवं कोयांचल प्रभारी लक्ष्मण राव, उपाध्याक्ष आशुतोष स्वर्णकार ने भी केंद्र सरकार द्वारा रेलवे के निजीकरण के खिलाफ अपने विचार रखे।

कार्यक्रम में एसईसीआर मजदूर संघ के महामंत्री संतोष पटेल, टीटीई एसोसिएशन के शरद यादव, आॅल इंडिया ट्रैकमैन एसोसिएशन के महामंत्री राजेंद्र कौशिक, महामंत्री संजय गुप्ता, आॅल इंडिया एसटी/ एससी महामंत्री प्रभात पासवान, आॅल इंडिया ओबीसी एसोसिएशन के नेता मधुसूदन राव तुलसीराव, बिलासपुर शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रमोद नारायण, सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता सुदीप श्रीवास्तव, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अभय नारायण राय, आम आदमी पार्टी नेता प्रियंका शुक्ला कर्मचारी संगठन के नेता पीआर यादव, पार्षद अजय यादव, साई भास्कर, इब्राहिम खान सहित अन्य रेलकर्मी मौजूद रहे।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending