Connect with us

रेलवे

रेलवे निजीकरण के खिलाफ रेल कर्मचारियों ने खोला मोर्चा, मशाल जला कर ली रेलवे बचाने की शपथ

Published

on

खबर शेयर करें

केंद्र में बीजेपी की सरकार के आने के बाद रेलवे को निजीकरण करने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। ट्रेन से लेकर स्टेशन तक निजी कम्पनियों को सौंपा जा रहा है। रेलवे के इसी निजीकरण के विरोध में संयुक्त ट्रेड यूनियन व इण्डियन रेलवे इम्प्लॉइज फेडरेशन के आह्वान पर नार्थ सेन्ट्रल रेलवे वर्कर्स यूनियन के कार्यकर्ताओं ने प्रयागराज स्थित कोरल क्लब में “रेल बचाओ देश बचाओ अभियान” के तहत मशाल जलाकर रेल बचाने का शपथ ली।

इस दौरान इण्डियन रेलवे इम्प्लाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं नार्थ सेन्ट्रल रेलवे वर्कर्स यूनियन के जोनल महामंत्री कामरेड मनोज पाण्डेय ने कहा कि  मोदी सरकार देश के सभी सरकारी उपक्रमों को बेचने के बाद अब रेल को भी निजी हाथों में बेच देना चाहती है। उन्होंने कहा हमें सरकार चाहे जेल में डाले चाहे नौकरी से निकाले। हम किसी भी कीमत पर रेलवे का निजीकरण नहीं होने देगें ।

इस मौके पर कॉमरेड कमल उसरी, डी. बी. सिंह ,संजय तिवारी, सैय्यद रफत अली, विनय तिवारी, ए. एन. मिश्रा, सैय्यद आफताब अहमद, डी. पी. सिंह, भीम सिंह, रुक्मानंद पांडेय, संदीप सिंह, राम किशोर, शिवेंद्र प्रताप सिंह, इफ़्तिख़ार अहमद , सुनील मौर्य, शैलेश गौतम, आदि मुख्यरूप से मौजूद मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

Trending