Connect with us

टेक्नोलॉजी

चाइनीज चीजों के बहिष्कार के बाद देसी एप्स की क्रांति, “SAY NAMASTE”और “JIO MEET” की बढी डिमांड

Published

on

खबर शेयर करें

भारत में चाइनीज चीजों का बहिष्कार के बाद भारत में देसी ऐप्स की क्रांति आ गई है। ऐसे में अब भारत में चाइनीज एप्स के बजाय उससे मिलते जुलते भारतीय का उपयोग तेजी से कर रही हैं। अभी तक भारत में टिकटाॅक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर जैसे चीनी एप्स ने बाजार में अपनी धमक जमा रखी थी।

अब टिकटाॅकी की जगह “शेयर चैट” ने तेजी से भारत मे अपनी जगह बनाई है। इस प्लेटफार्म पर यूजर्स 10 अलग अलग भाषाओं में बातचीत कर सकते हैं। इसके अलावा अपनी पंसद का वीडियो भी बना सकते हैं। शेयरइट की तरह “शेयरआॅल” भी बिना केबिल या इंटरनेट एक्सेस के फाइलों को तेजी से ट्रांसफर करता है।

वहीं अब चाइनीज एप यूसी ब्राउजर की जगह “एपिक वेब ब्राउजर” और “जियो ब्राउजर” अच्छा विकल्प है। “जियो ब्राउजर” तेज सर्फिंग देने के साथ सुरक्षित भी है। यह मनोरंजन और समाचार सामग्री प्रदान करता है। जबकि “एपिक ब्राउजर” वायरस से सुरक्षा देता है।  

तकनीकी रूप से जूम कैलिफोर्निया का एप है लेकिन पिछले कई सालों से इसके अधिकांश काॅल चाइनीज सर्वर से रूट किए जा रहे हैं। इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से यह सही विकल्प नहीं माना जा रहा है। इसकी जगह स्वदेशी एप “से नमस्ते” या “जियो मीट” अच्छा विकल्प हो सकता है। “से नमस्ते”पूरी तरह से भारतीय वीडियो काॅन्फेंसिंग एप है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending