Connect with us

उत्तरप्रदेश

यूपी के विकास के मुद्दे पर बहस से दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से डर गए यूपी के मंत्री और फिर…

Published

on

खबर शेयर करें


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के मैदान में उतरने के ऐलान से बीजेपी सहित सभी पार्टियों मेें खलबली मच गई है। यूपी की योगी सरकार को भी अपना भविष्य खतरे में दिखाई देने लगा है। बीजेपी की बौखलाहट का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह बिना कुछ सोचे ही दिल्ली सरकार को बहस के लिए चुनौती दे यूपी सरकार के गले की हड्डी बन गए।
चुनौती में यूपी और दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था सहित अन्य कार्यों की तुलना शामिल है। कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ की ये चुनौती दिल्ली सरकार के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने तत्काल स्वीकार कर ली। मनीष सिसोदिया के यह चुनौती यूपी सरकार के लिए गले की हड्डी बन गई। इसी चुनौती को स्वीकार कर मंगलवार को दिल्ली डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया एक दिन के लिए लखनऊ आए।
डिप्टी सीएम सिसोदिया यूपी और दिल्ली के विकास कार्यों पर बहस करने गांधी भवन पहुंचे। लेकिन वहां यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह नहीं पहुंचे। काफी इंतजार के बाद जब कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ नहीं पहुंचे तो मनीष सिसोदिया वहां से लखनऊ में प्राइमरी स्कूल का निरीक्षण करने के निकले। उनका काफिला रायबरेली रोड पर उतरेटिया में रोक दिया गया।
पुलिस कमिश्नर के निर्देश पर काफिला रोकने से सिसोदिया काफी नाराज हुए। उन्होंने पुलिस कमिश्नर से फोन पर बात की। जवाब में पुलिस कमिश्नर ने सिसोदिया को केवल एक ही कार्यक्रम की अनुमति लेने का हवाला दिया। सिसोदिया करीब आधे घंटे तक इंतजार करते रहे, जब उन्हें स्कूल जाने नहीं दिया गया तो वह वीवीआईपी गेस्ट हाउस वापस लौट आए। आज रात सिसोदिया लखनऊ में ही रूकेंगे।
जिस प्रकार से यूपी और दिल्ली सरकार के विकास कार्यों पर खुली बहस मे यूपी के कैबिनेट मंत्री नहीं शामिल हुए और लखनऊ के एक शासकीय स्कूल तक दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को नहीं जाने दिया गया। उसे यूपी सरकार के मंत्रियों में दिल्ली सरकार के कार्यों के डर के तौर पर देखा जा रहा है।
बहस में यूपी के कैबिनेट मंत्री के शामिल नहीं होने पर दिल्ली डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। साथ ही स्कूल व्यवस्था को भी आडे हाथो लिया। उन्होंने कहा कि यह तो बेहद ही शर्मनाक है कि आज जब हम सरकारी स्कूल का निरीक्षण करने जा रहे थे तो हमको रोका गया। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार तो दमन पर उतर आई है। हमको यहां रोका जा रहा है, अगर सीएम योगी आदित्यनाथ दिल्ली आएं तो वह किसी भी स्कूल, बिजली घर या फिर अस्पताल का निरीक्षण करने के लिए स्वतंत्र हैं।
उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ को ट्वीट करते हुए लिखा कि योगी जी आपके स्कूलों का सच तो मैं दिखा के रहूंगा…फिलहाल आपने पुलिस की घेराबंदी लगाकर लखनऊ के जिस स्कूल को देखने जोने से मुझे रोक रखा है उसे आप भी देख लीजिए. आपके दफ्तर से मात्र 8 किमी दूर है।
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और उनके मंत्री बीते चार सालों से सिर्फ घूम रहे हैं। अब सिर्फ एक साल का समय बचा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के माॅडल को यूपी में लाने की बात कही। साथ ही यूपी सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि यूपी सरकार भी दिल्ली की केजरीवाल माॅडल सरकार की तरह काम करने का प्रयास। यूपी में भी फ्री बिजली, पानी और शिक्षा दी जा सकती है। सरकार को इस काम को करना होगा, लेकिन समय बहुत कम बचा है।
उन्होंने कैबिनेट मंत्री के चुनौती का जिक्र करते हुए कहा कि केजरीवाल जी ने जब कहा कि आम आदमी पार्टी यूपी विधानसभा चुनाव लड़ेगी तब से यूपी सरकार बौखला गई है और उनके मंत्रियों ने चुनौती दी कि दिल्ली के गवर्नेंस माॅडल और उनके माॅडल पर वे खुली बहस के लिए तैयार हैं। उसी खुली बहस की चुनौती को स्वीकार करते हुए मैं लखनऊ आया हूं। सरकार ने हमे शिक्षा स्वास्थ्य पर डिबेट की चुनौती दी थी, मैं पूरा दिन लखनऊ में रहूंगा, मुझे बताए कहां आना है। मैने उसी समय सिद्धाथनाथ सिंह जी को कहा था कि मैं आपका निमंत्रण स्वीकार करता हूं। अभी तक उन्होंने समय और स्थान नहीं बताया। उम्मीद है कि पिछले चार साल में यूपी सरकार ने शिक्षा, बिजली और रोजगार के लिए जो काम किए होंगे। उस पर खुल बहस के लिए मंत्री जी आएंगे। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि यूपी में आम आदमी पार्टी के ताल ठोकने के ऐलान मात्र से बीजेपी के मंत्रियों और कार्यकर्ताओं में बौखलाहट साफ दिखने लगी है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

Trending